The Sign of a Mature Institution

The Sign of a Mature Institution

(Courtesy the makers of Rushmore)

Author: anileklavya

मैं सांगणिक भाषाविज्ञान (Computational Linguistics) में एक शोधकर्ता हूँ। इसके अलावा मैं पढ़ता हूँ, पढ़ता हूँ, पढ़ता हूँ, और कुछ लिखने की कोशिश भी करता हूँ। हाल ही मैं मैने ज़ेडनेट का हिन्दी संस्करण (http://www.zmag.org/hindi) भी शुरू किया है। एक छोटी सी शुरुआत है। उम्मीद करता हूँ और लोग भी इसमें भाग लेंगे और ज़ेडनेट/ज़ेडमैग के सर्वोत्तम लेखों का हिन्दी (जो कि अपने दूसरे रूप उर्दू के साथ करोड़ों लोगों की भाषा है) में अनुवाद किया जा सकेगा।

2 thoughts on “The Sign of a Mature Institution”

  1. There should be two other “prohibited” bubbles below the gun and drugs. One with books and the other with a head and a cartoon idea bubble with a light bulb in it.

  2. Right. And the the notice should also say that you will need a special permit to use these two. And, to be allowed to use them, you should carry your identification papers with you all the time and show them whenever asked.

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.